Follow by Email

Sunday, 8 April 2018

क़लम की धार ...



क़लम की धार और अन्ना की पुकार 
सुनाई ना दे, भीड़ है बाहर I

कृषक रोए, पेर खेत ना छोड़े, 
मेहनत जाए, मुआवज़ा ना आए I

कृषि इनकम कोई करोड़ बताए ,
टॅक्स में छूट और फार्म हाउस बताए I

रचना: प्रशांत  

No comments:

Post a Comment